इतिहास के पदचिन्ह

ऐसे भी ज़माने में कुछ इंसान हुए हैं

- रामकुमार सेवक